आपकी एंटी एजिंग प्लेट

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए महंगे-महंगे सप्लीमेंट्स आदि लेना कोई समझदारी नहीं है। यह लाभ के साथ-साथ कभी-कभी नुक्सान भी कर जाते हैं। इसकी बजाय यदि आप प्राकर्तिक चीजें लेते हैं, तो वह नुक्सान भी नहीं करेंगी और स्वादिष्ट भी लगेंगी, जिसे आपके साथ-साथ बच्चे भी चाव से खाएंगे।

जवान दिखने के लिए लोग तरह तरह के उपाय करते हैं। तमाम क्रीम लगाई जाती है। तमाम तरह की चीजें खाई जाती हैं, लेकिन यह नहीं पता है कि कितनी मात्रा में ये चीजें खाई जाना चाहिए और कितने समय में इसका असर दिखने लगेगा। इसमें चार ‘क’ क्या, कितना, कब और क्यों आते हैं।

हरदम तरोताजा या खिले-खिले दिखने के लिए किसी कॉस्मेटिक स्टोर की बजाय फल, सब्जी, ग्रीन टी और अन्य आॅक्सीडेंट से भरपूर पैक्ड फूड्स लिए जाने चाहिए।

क्यों जरूरी

एंटीआॅक्सीडेंट हमारे खाने में न्यूट्रिएंट्स का काम करते हैं। इनके कारण ही हमारे शरीर में धीमी गति से होने वाला आॅक्सीडेटिव नुक्सान कम हो सकता है। यह फ्री रेडिकल्स को रोकते हैं। फ्री रेडिकल्स ही आपको तेजी से बूढ़ा करते हैं। यदि नीचे लिखी चीजों को खाया जाए, तो आप अपनी उम्र से बहुत कम के दिखने लगेंगे।

ये चीजें कब, कितना और क्यों खाएं और इसका कितने समय में क्या असर होना चाहिए, इन बातों को यदि ध्यान में रखा तो आप इसका पूरा पूरा फायदा उठा पाएंगे। इन चीजों के साथ यदि आपने किसी योग शिक्षक से आसन व व्यायाम की पूरी ट्रेनिंग ले ली और प्राणों को संयमित करना सीख लिया, तो सच में आप अपनी उम्र से आधे दिखने लगेंगे।

टमाटर

लाल-लाल टमाटर, देखने से ही लगता है कि रक्त से सराबोर हैं। सब्जी बनने का इंतजार भी क्यों। इन्हें कच्चा उठायें, धोएं और खा लें। ज्यादा हो तो थोड़ा-सा काल नमक व काली मिर्च की चुटकी बुरक लें।

क्यों खाएं

ल्यूटिन और लाइकोपिन से भरपूर टमाटर एंटीआॅक्सीडेंट का काम करता है। इससे कई तरह के कैंसर की रोकथाम होती है। यह मांसपेशियों का क्षरण रोकता है। मोतियाबिंद नहीं होने देता और उम्र के साथ खत्म होने अली मानसिक क्षमता को बनाये रखता है। लाइकोपिन फैट में घुलनशील होता है। यदि इसे किसी फैट वाले पदार्थ के साथ लिया तो फायदा होगा। यह भी कर सकते हैं जो टमाटर खा रहे हों उनमें से आधे पके हुए हों।

कितना खाएं: 250 ग्राम लाल टमाटर खाना सही है।

कब खाएं

लंच या डिनर के साथ टमाटर खाने चाहिए। हफ्ते में कम से कम 3 बार इसका सेवन करें। टमाटर लाल हो तो ज्यादा फायदा होगा।

कितने समय में असर

एक माह तक खाने से कमजोर नजर ठीक होगी।

तरबूज

आम के आम, गुठलियों के दाम। लाल गूदा निकालकर खाएं, छिलके की सूखी सब्जी बनाएं और बीज मिठाई में डालने के काम आते हैं, तो इस तरह हुआ न तिगुना फायदा! तरबूज लाइकोपिन का अच्छा स्त्रोत है और यह एंटी आॅक्सीडेंट्स से भरपूर है।

क्यों खाएं

विटामिन ए, बी और सी इससे मिलता है। यह फ्री रेडिकल्स को रोकेगा, जो उम्र का असर शरीर पर दिखाते हैं।
कब, कितना खाये: पेट भर कर खा सकते हैं। खाली पेट भी खा सकते हैं।

कैसे लेंगे

इसके लाल गूदे के अलावा छिलके से जुड़े सफेद तत्व से फेनोलिक एंटीआॅक्सीडेंट, लाइकोपीन व विटामिन सी मिलता है।

कितने समय में असर

तीन माह तक लगातार खाया जाए, तो वजन तो कम होगा ही, साथ ही दृष्टि दोष भी समाप्त हो जाएगा।

अंगूर

कभी अंगूर सिर्फ चमन से आते थे और यह अमीरों का फल गिना जाता था। आज महाराष्ट्र, हैदराबाद में अंगूर की खेती बहुतायत में होती है। आज तो अंगूर गोल के साथ लम्बी शेप में भी आने लगे हैं, जो खाने में भी मीठे और सुंदर भी दिखते हैं।

क्यों खाएं

इसमें एक ऐसा तत्व है, जो एंटी एजिंग गुणों से भरपूर है। इसे रेसवरैट्रॉल कहते हैं। एंटीआॅक्सीडेंट भी अंगूर से ले सकते हैं।

कितना लेना है

हर दिन 100-150 ग्राम अंगूर खा सकते हैं।
कब लेंगें: ब्रेकफास्ट के साथ या फिर दोपहर में इसे लिया जा सकता है। इसे हफ्ते में 3-4 बार जरूर लीजिये।

कितने समय में असर

दो माह सेवन से आपको थकान बिलकुल महसूस नहीं होगी।

-विनीता राज

सच्ची शिक्षा हिंदी मैगज़ीन से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें FacebookTwitter, LinkedIn और InstagramYouTube  पर फॉलो करें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here