Mudra scheme

मुद्रा योजना से युवा संवार रहे अपनी तकदीर With the Mudra scheme, young people can improve their destiny मुद्रा योजना के तहत बिना गारंटी के लोन मिलता है। इसके अलावा लोन के लिए कोई प्रोसेसिंग चार्ज भी नहीं लिया जाता है। मुद्रा योजना में लोन चुकाने की अवधि को 5 साल तक बढ़ाया जा सकता है। लोन लेने वाले को एक मुद्रा कार्ड मिलता है, जिसकी मदद से कारोबारी जरूरत पर आने वाला खर्च किया जा सकता है। Mudra scheme

Table of Contents

माइक्रो-यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी (मुद्रा) एक लोन योजना है,

जो भारत सरकार द्वारा शुरू की गई प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत आती है। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना सूक्ष्म, छोटे और मध्यम उद्यमों की सहायता के लिए एक प्रयास है। आम तौर पर मुद्रा लोन वेंडर, ट्रेडर, दुकानदार और अन्य कारोबार के लिए दिए जाते हैं। मुद्रा लोन लेकर आप टैक्सी-ट्रांसपोर्ट का भी काम शुरू कर सकते हैं।

अगर आप छोटी यूनिट लगाना चाहते हैं तो मशीनरी और कच्चा माल आदि यह स्कीम गैर-कॉपोर्रेट, गैर-कृषि क्षेत्रों और छोटे या अति-छोटे-उद्यमों को 10 लाख रु. तक का लोन प्रदान करती है। इन लोन स्कीम का लाभ उठाने के लिए देश में 27 सरकारी बैंक, निजी क्षेत्र के 17 बैंक, 31 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, 4 सहकारी बैंक, 36 माइक्रो फाइनेंस संस्थान और 25 गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों को मुद्रा लोन बांटने के लिए अधिकृत किया गया है।

आप वेबसाइट पर जाकर भी आवेदन फॉर्म भरकर मुद्रा लोन के लिए आॅनलाइन आवेदन कर सकते हैं। मुद्रा लोन प्राप्त करने के लिए आवेदक के पास एक व्यवसाय योजना होनी चाहिए। लोग व्यक्तिगत आवश्यकताओं जैसे कार, बाइक आदि खरीदने के लिए मुद्रा लोन प्राप्त नहीं कर सकते।

मुद्रा बैंक लोन के लिए आवेदन कैसे करें?

इस योजना के तहत 29 बैंकों की सूची बनाई गई है। इनमें से किसी भी बैंक में आवेदक किया जा सकता है।

  • आवेदक को अपने निकटतम कमर्शियलया प्राइवेट बैंक में जाएं।
  • बिजनस प्लान को सामने रखें।
  • सही ढंग से भरा हुआ लोन एप्लीकेशन फॉर्म जमा करें।
  • जमा किए जाने वाले अतिरिक्त दस्तावेज- पहचान प्रमाण, पता प्रमाण, कंपनी का पता प्रमाण, कंपनी पहचान प्रमाण, जाति प्रमाण पत्र, बैलेंस शीट, टैक्स-रिटर्न, पिछले तीन वर्षों के जीएसटी रिटर्न, और अन्य मशीनरी जानकारी।
  • बैंक द्वारा आगे की सभी औपचारिकताओं और प्रक्रियाओं को पूरा करें।
  • प्रस्तुत दस्तावेजों को वैरीफाई किया जाएगा, जिसके बाद लोन स्वीकृत होगा।

आॅनलाइन आवेदन

इच्छुक व्यक्ति इस योजना के तहत लिस्टेड 29 बैंकों की किसी भी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर मुद्रा लोन के लिए आॅनलाइन आवेदन कर सकते हैं। ये बैंक ग्रामीण, सार्वजनिक और प्राइवेट सेक्टर क्षेत्र के बैंकों में शामिल हैं। लोग आधिकारिक वेबसाइट से भी आॅनलाइन फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं।

आवेदक को एक लोन फॉर्म भरना है, चाहे वह किसी भी लोन योजना के लिए हो। लोन देने वाले बैंक संस्थानों में से किसी भी वेबसाइट से यह लोन फॉर्म डाउनलोड करें। मुद्रा लोन आवेदन के लिए आॅनलाइन आवेदन करना बहुत सुविधाजनक है, क्योंकि इससे बैंक जाने, लाइन में इंतजार करने की परेशानी से राहत मिलेगी।

मुद्रा लोन के लिए आॅनलाइन आवेदन करने तरीका निम्नलिखित है:

स्टेप 1: लोन एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करें।
स्टेप 2: लोन एप्लीकेशन फॉर्म में सही जानकारी भरें।
स्टेप 3: किसी भी सार्वजनिक या प्राइवेट बैंक में जाएं।
स्टेप 4: बैंक की सभी प्रक्रियाओं को पूरा करें।
स्टेप 5: जिसके बाद लोन पास हो जाएगा।
व्यापार करने के प्रकार जो मुद्रा लोन का लाभ उठा सकते हैं
सेल्फ-प्रोपराइटर, पार्टनरशिप, सर्विस सेक्टर की कंपनियां, माइक्रो उद्योग, मरम्मत की दुकानें, ट्रकों के मालिक, खाने से संबंधित व्यवसाय, विक्रेता (फल और सब्जियां), माइक्रो मैन्युफैक्चरिंग फर्म्स,

आवश्यक दस्तावेज

  • दो फोटो
  • पहचान का प्रमाण
  • खुद की पहचान संबंधी दस्तावेज के रूप में आप इन दस्तावेजों में से किसी एक की फोटोकॉपी जमा कर सकते हैं। कागजात की फोटो कॉपी पर आपको अपना हस्ताक्षर भी करना होगा। मतदाता पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट आदि
  • निवास संबंधी प्रमाण
  • अपने पते के प्रमाण के रूप में आप इनमें से कोई एक कागजात की फोटोकॉपी जमा कर सकते हैं।
  • टेलीफोन बिल, बिजली का बिल, संपत्ति कर रसीद, मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड, पासपोर्ट, बैंक पासबुक का तीन महीने का स्टेटमेंट आदि
  • अगर आप अनुसूचित जाति/जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग आदि से आते हैं तो उसके प्रमाणपत्र की फोटोकॉपी।
  • अपने कारोबार से संबंधित लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट या अन्य कोई दस्तावेज जमा करना होगा। यह इस बात का प्रमाण है कि आप उस बिजनेस के मालिक हैं।
  • अगर आप बिजनेस बढ़ाने के लिए मुद्रा लोन ले रहे हैं तो इस कोटेशन में आप सामान या मशीनरी खरीदने की लागत आदि दिखा सकते हैं।
  • कारोबार बढ़ाने में आपको मशीन या कच्चे माल आदि की जरूरत पड़ती है। ऐसे में आप सामान किससे खरीद रहे हैं और किस कीमत पर खरीद रहे हैं, इस बारे में भी बैंक को बताना पड़ेगा।

यहाँ कुछ मामले हैं जिनमें मुद्रा लोन लिया जा सकता है

  • ओवरड्राफ्ट सुविधा
  • ड्रॉपलाइन ओवरड्राफ्ट
  • वाणिज्यिक वैन, दोपहिया वाहनों के लिए लोन
  • मशीनरी और अन्य संसाधनों की खरीद के लिए लोन
  • कार्यालयों का नवीनीकरण
  • कृषि-संबंधित गतिविधियों के लिए आवश्यक लोन

फॉर्म भरते समय मदद करने वाले बिंदू

प्रत्येक लोन एप्लिकेशन फॉर्म के टॉप पर लोन के प्रकार का नाम होगा। शिशु लोन के लिए फॉर्म अलग है, जबकि तरुण और किशोर लोन के लिए फॉर्म एक ही है।

  • बैंक और शाखा का नाम जहां से लोन लेना चाहते हैं।
  • आवेदक का नाम सही और स्पष्ट रूप से भरें।
  • यदि पूछा जाए तो आवेदक के पिता / माता का नाम भरें।
  • मोबाइल नंबर और पते जैसी संपर्क की जानकारी दर्ज करें।
  • धर्म और राष्ट्रीयता की भी जानकारी दर्ज करें।
  • आधार कार्ड की जानकारी दर्ज करें।
  • व्यवसाय स्थापित करने के लिए अनुमानित खर्च की जानकारी दर्ज करें।
  • कंपनी द्वारा किए गए व्यापार की हर जानकारी, उनकी वर्तमान बिक्री और निकट भविष्य में उनकी संभावित बिक्री।
  • ओबीसी/एस/एसटी श्रेणियों के तहत आने वाले आवेदकों को जाति प्रमाण पत्र प्रदान करना होगा।
  • यदि किसी ने पहले लोन के लिए आवेदन किया है, तो उस लोन के प्रकार, राशि क्रेडिट और लोन एकाउंट के विवरण का उल्लेख करना होगा।
  • दो पासपोर्ट फोटो लगाएं।

केवल तीन प्रकार के मुद्रा लोन आॅफर किए जाते हैं। मुद्रा नीचे दिए गए तीन आधारों पर लोन आॅफर करती है।

शिशु:

शिशु लोन के तहत, एक आवेदक 50,000 रुपये तक का लोन प्राप्त कर सकता है। इस तरह के लोन का मतलब ऐसे लोगों से है, जिन्हें कम फंड की जरूरत होती है। यह उन लोगों को दिया जाता है जो अभी अपना व्यवसाय शुरू कर रहे हैं या उन्हें धन की आवश्यकता है।

किशोर:

किशोर लोन के तहत, एक आवेदक 50,000 रु. से लेकर 5 लाख रु. तक लोन प्राप्त कर सकता है। इस प्रकार का लोन उन आवेदकों के लिए उपयुक्त है जो पहले ही अपना व्यवसाय शुरू कर चुके हैं, लेकिन इसे सुधारने के लिए कुछ और धन की आवश्यकता है। यह उन व्यक्तियों को दिया जाता है जिनके व्यवसाय शुरू हो गए हैं लेकिन अभी तक स्थापित नहीं हुए हैं। ब्याज दर लोन देने वाली संस्था पर निर्भर है। किशोर लोन में, व्यवसाय योजना और इस लोन के लिए आवेदन करने वाले व्यक्ति का क्रेडिट रिकॉर्ड ब्याज दर तय करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बैंक ही भुगतान की अवधि भी तय करता है।

तरुण:

तरुण लोन के तहत, एक आवेदक 5 लाख रु. से 10 लाख रु. का लोन प्राप्त कर सकता है। यह लोन मुद्रा लोन योजना के तहत व्यक्तियों को दी जाने वाली उच्चतम लोन राशि प्रदान करता है। यह उन लोगों को दिया जाता है जिनके व्यवसाय स्थापित हैं, लेकिन उन्हें अपने व्यवसायों का विस्तार करने के लिए धन की आवश्यकता है।

मुद्रा लोन पर ब्याज दरें

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत कोई निश्चित ब्याज दर नहीं हैं। विभिन्न बैंक मुद्रा लोन के लिए अलग ब्याज दर वसूल सकते हैं. लोन लेने वाले के कारोबार की प्रकृति और उससे जुड़े जोखिम के आधार पर भी ब्याज दर निर्भर करती है। आम तौर पर न्यूनतम ब्याज दर 12% है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के लाभ

मुद्रा योजना के तहत बिना गारंटी के लोन मिलता है। इसके अलावा लोन के लिए कोई प्रोसेसिंग चार्ज भी नहीं लिया जाता है। मुद्रा योजना में लोन चुकाने की अवधि को 5 साल तक बढ़ाया जा सकता है। लोन लेने वाले को एक मुद्रा कार्ड मिलता है, जिसकी मदद से कारोबारी जरूरत पर आने वाला खर्च किया जा सकता है।

मुद्रा लोन योजना के तहत आने वाले बैंक

इलाहाबाद बैंक, आंध्रा बैंक, एक्सिस बैंक, बैंक आॅफ बड़ौदा, बैंक आॅफ इंडिया, बैंक आॅफ महाराष्ट्र, केनरा बैंक, सेन्ट्रल बैंक आॅफ इंडिया, कॉरपोरेशन बैंक, देना बैंक, फेडरल बैंक, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, आईडीबीआई बैंक, इंडियन बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, जे एंड के बैंक, कर्नाटक बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, ओरियंटल बैंक आॅफ कॉमर्स, पंजाब एंड सिंध बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, सारस्वत बैंक, स्टेट बैंक आॅफ इंडिया, सिंडिकेट बैंक, तमिलनाडु मर्सेंटाइल बैंक, यूको बैंक, यूनियन बैंक आॅफ इंडिया, यूनाइटेड बैंक आॅफ इंडिया।

मुद्रा लोन से संबंधित सवाल जवाब

विभिन्न सर्वेक्षण लघु उद्योगों को भारत की अर्थव्यवस्था को विकसित करने, विकसित करने और बढ़ाने में मदद करने वाले सरकार के महत्व के बारे में बताते हैं। मुद्रा लोन के लिए आॅनलाइन आवेदन करना सुविधाजनक और समय की बचत है। यह निश्चित रूप से देश की अर्थव्यवस्था के विकास के करीब एक बेहतरीन कदम है। छोटे व्यापार को उनके विकास में सहायता करने के साथ, अप्रत्यक्ष रूप से यह योजना देश की अर्थव्यवस्था की विकास दर को बढ़ाने में भी मदद करती है।

प्रश्न. शिशु लोन योजना के तहत लोन मिलने में कितना समय लगता है?

उत्तर: शिशु लोन योजना के लिए लोन मिलने में 7-10 दिन लगते हैं।

प्रश्न. क्या मुद्रा लोन भारत के सभी बैंकों पर लागू होता है?

उत्तर: जी हाँ, मुद्रा लोन भारत के लगभग हर निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों द्वारा दिया जाता है।

प्रश्न. मुद्रा लोन योजना के तहत दी जाने वाली लोन राशि कितनी है?

उत्तर: मुद्रा लोन योजना के तहत दी जाने वाली न्यूनतम लोन राशि 50,000 रु. और अधिकतम 10 लाख रु. है ।

प्रश्न. मुद्रा लोन द्वारा तय ब्याज दर क्या है?

उत्तर: आरबीआई के दिशानिदेर्शों के अनुसार, मुद्रा लोन आवेदक की आवश्यकताओं और प्रोफाइल के आधार पर ब्याज दर तय की जाती है।

प्रश्न. मुद्रा लोन लेने के लिए क्या कोई सिक्योरिटी जमा करना आवश्यक है?

उत्तर: नहीं, बैंकों को कोई सिक्योरिटी जमा करने की आवश्यकता नहीं है।

प्रश्न. क्या शारीरिक रूप से अक्षम लोग मुद्रा लोन लेने के योग्य हैं?

उत्तर: प्रत्येक भारतीय नागरिक मुद्रा लोन का लाभ उठाने के लिए योग्य है जिसके पास इनकम के लिए एक व्यवसाय योजना है।

प्रश्न.क्या प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत किसी तरह की सब्सिडी है?

उत्तर: इस योजना के तहत कोई सब्सिडी नहीं दी जाती है। हालांकि, यदि लोन किसी भी सरकारी योजना से जुड़ा हुआ है, जिसमें सरकार सब्सिडी प्रदान कर रही है, तो यह प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत योग्य होगी।

प्रश्न. क्या टेंपो, टैक्सी या आॅटो खरीदने के लिए मुद्रा लोन उपलब्ध हैं?

उत्तर: हां, केवल अगर आवेदक सार्वजनिक परिवहन के उद्देश्य से इन वाहनों का उपयोग करने जा रहा है।
अधिक जानकारी के लिए आप केंद्र सरकार की वेबसाइट https://www.mudra.org.in/ पर संपर्क कर सकते हैं।

सच्ची शिक्षा हिंदी मैगज़ीन से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें FacebookTwitter, LinkedIn और InstagramYouTube  पर फॉलो करें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here