WhatsApps' new privacy policy postponed for 3 months - Sachi Shiksha

पॉपुलर मैसेजिंग ऐप व्हाट्सएप ने अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को तीन महीने के लिए टाल दिया है।

व्हाट्सएप का कहना है कि प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर यूजर्स में भ्रम हैं। इसलिए पॉलिसी की शर्तों को समझने के लिए यूजर्स को समय दिया जा रहा है। व्हाट्सएप ने ये भी कहा है कि प्राइवेसी पॉलिसी के आधार पर कभी भी अकाउंट को हटाने की योजना नहीं बनाई गई है और भविष्य में भी ऐसी योजना नहीं होगी।

पहले ऐसा कहा जा रहा था कि वट्सएप 8 फरवरी 2021 को अपनी टर्म्स आॅफ सर्विस को अपडेट करने जा रहा है। अगर व्हाट्सएप यूजर्स इससे एग्री नहीं होते हैं तो वे व्हाट्सएप इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। लेकिन एक सर्वे ने व्हाट्सएप की निंदा उड़ा दी। माना जा रहा है कि सर्वे रिपोर्ट के खुलासे के बाद व्हाट्सएप ने नई प्राइवेसी पॉलिसी को फिलहाल टालने में ही भलाई समझी है।

कंपनी ने अपने बयान में कहा कि 8 फरवरी को किसी को भी व्हाट्सएप अकाउंट सस्पेंड या डिलीट नहीं करना होगा। व्हाट्सएप पर प्राइवेसी और सिक्योरिटी कैसे काम करती है। इसके बारे में जानकारी देने के लिए हम और भी बहुत कुछ करने जा रहे हैं। 15 मई को नया अपडेट आॅप्शन उपलब्ध होने से पहले हम अपनी पॉलिसी के बारे में लोगों का भ्रम दूर कर देंगे।

फेसबुक के साथ डेटा शेयर करने की व्यवस्था में नहीं होगा कोई बदलाव

इससे पहले व्हाट्सएप ने कहा था कि उसके नए अपडेट से फेसबुक के साथ डेटा शेयर करने की नीतियों में कोई बदलाव नहीं आएगा। व्हाट्सएप पर फेसबुक का पूर्ण स्वामित्व है। व्हाट्सएप ने यह सफाई नए अपडेट की दुनिया भर में हो रही कड़ी आलोचनाओं के बाद दी थी। अपडेट में यह भी कहा गया कि व्हाट्सएप की सेवाओं का उपयोग जारी रखने के लिए उपयोक्ताओं को आठ फरवरी, 2021 तक नयी शर्तों व नीति से सहमत होना होगा।

सर्वे: नई प्राइवेसी पॉलिसी से व्हाट्सएप से हट सकते हैं 15 फीसदी यूजर्स

एक सर्वे के अनुसार भारत के 244 जिलों के व्हाट्सएप के 24,000 से ज्यादा यूजर्स से प्रतिक्रियाएं ली गई। 26 फीसदी यूजर्स ने कहा कि वे व्हाट्सएप के उपयोग को काफी कम कर देंगे और अन्य प्लेटफार्म्स का यूज शुरू कर देंगे। वहीं 24 प्रतिशत ने कहा कि वे और उनके ग्रुप अन्य प्लेटफार्म्स पर जाने पर विचार कर रहे हैं।

इनके अलावा 15 प्रतिशत ने कहा कि वे पूरी तरह से व्हाट्सएप का यूज करना बंद कर देंगे, और 10 फीसदी ने कहा कि व्हाट्सऐप का यूज कम कर देंगे और ईमेल, एसएमएस का यूज करना शुरू करें। सिर्फ 18 प्रतिशत ने कहा कि वे व्हाट्सएप का उपयोग जारी रखेंगे और उन्हें अपने डेटा का उपयोग करने देंगे। सर्वे के रिजल्ट से संकेत मिले हैं इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप के भारत में 15 फीसदी यूजर्स को पूरी तरह से दूर जाने की संभावना है, जबकि 36 प्रतिशत उपयोग में काफी कमी आएगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here