फूलों में छिपा स्वाद चखा क्या

फूलों में छिपा स्वाद चखा क्या?
फूलों से बनने वाले व्यंजन के बारे में आपने शायद कम सुना हो, पर इनसे सब्जी से लेकर पकोड़ा सभी तरह के व्यंजन बनाये जा सकते हैं। ये स्वाद तो देंगे साथ ही सेहत भी बायेंगे। तो जानें कौन से फूल किस तरह प्रयोग करेंः

फूल खुशबू के अलावा स्वाद भी देते है। जानना चाहते हैं कैसे, तो आजमाइए कुछ व्यंजनः

कचनार कली सब्जी.

सिर्फ फूलों से नहीं कलियों से भी बनती है सब्जी.

विधिः

सब्जी के लिए २०० ग्राम कचनार कली लेकर साफ़ करें और मोटी डंडियाँ तोड़ कर अलग करें। इन कलियों को अच्छी तरह २-३ बार साफ़ पानी से धोएं फिर बरतन में २ गिलास पानी और आधा छोटा चम्मच नमक मिलाकर उबालें। पानी में उबाल आने के बाद कचनार की कली पानी में डालें और फिर से उबाल आने के बाद ३-४ मिनट तक उबालें। फिर पानी छानकर अलग कर दें। हाथ से दबा कर भी पानी निकाल लें। अब २-३ हरी मिर्च बारीक कटी हुई, १ टुकड़ा अदरक का कद्दूकस पेस्ट बनाएं। कड़ाई में तेल गर्म कर १ चुटकी हींग और आधा छोटा चम्मच जीरा तड़काएं। जीरा तड़कने के बाद एक चौथाई छोटा चम्मच हल्दी पाउडर, २ चम्मच धनिया पाउडर, हरी मिर्च और अदरक के पेस्ट में मिलाए। टमाटर भी ग्राइंड कर डालें। थोड़ा पानी डालकर चलाएं। फिर एक चौथाई छोटा चम्मच लाल मिर्च पाउडर, आधा छोटा चम्मच अमचूर और गर्म मसाला भी मिलाएं व भूनें।

जब मसाले के ऊपर तेल तैरता दिखाई देने लगे या मसाला दाने दार दिखने लगे, तब उबाली हुई कचनार की कालिया डाल कर भूने व थोड़ी देर हलकी आंच पर पकने दें। लीजिये कचनार की कली की स्वादिष्ट सब्जी तैयार है। इसे आप पूरी, पराठे या चपाती के साथ परोसें, थोड़ी-थोड़ी ग्रेवी भी रहने दें। पूरी तरह न सुखाएं।

केले के फूल के बड़ेः

दाल के बड़े तो खूब खाये होंगे, इस बार केले के फूल के बड़े भी चखें।
विधिः डेढ़ कप केले के फूल काट कर दही में डुबोएं। डेढ़ कप चना दाल धोएं व ४ घंटे गलायें। इसमें ४ हरी मिर्च और २ छोटी चम्मच सौंफ़ मिलाकर दरदरा पीसें। इस मिश्रण में आधा कप प्याज बारीक कटी, हींग, १ टुकड़ा अदरक किसा हुआ, नमक, हरा धनिया पत्ती व १ चम्मच चावल का आटा मिलाएं। केले के फूलों में अधिक पानी हो तो निचोड़ लें और मिश्रण में मिलकर गाढ़ा मिश्रण तैयार करें। एक पैन में तेल गर्म करें। अब थोड़े से मिश्रण को लेते जाएँ व टिक्की या बड़े का आकार दें। नारियल चटनी या सॉस के साथ सर्व करें।

कद्दू के फूलों के पकौड़ेः

बनाएं चटपटे कद्दू के फूलों के पकौड़े.

विधिः

कद्दू के १० फूल लेकर उनके डंठल आदि निकाल दें और छोटा काट लें। उन्हें अच्छी तरह धो लें। १०० ग्राम बाजरे का आटा, १ बड़ा चम्मच चावल का आटा, छोटा चम्मच हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर व नमक डालकर गाढ़ा मिश्रण तैयार कर लें। चाहें तो थोड़ा सा अमचूर पाउडर भी मिला लें। हल्का गर्म तेलकर डालकर अच्छी तरह मिश्रण को फेंटे। पैन में तेल गर्म करें। जब तेल गर्म हो जाए तो २ फूल के टुकड़े लेकर मिश्रण में डालें व फिर गर्म तेल डालकर सुनहरा रंग आने तक सेंकें। इस तरह सभी फूलों के पकोड़े बनाएं व हरी चटनी के साथ सर्व करें।

सहजन के फूल की सब्जीः

फूलों की ये रेसिपी जायकेदार तो है ही, सेहत से भी भरपूर है.
विधिः ४०० ग्राम सहजन के फूलों को २-३बार पानी बदलते हुए धोकर साफ़ करें। फूलों को नमक मिले पानी में उबालें। नरम होने पर पानी निथारकर निचोड़ें। अब पैन में तेल गर्म करें और इसमें लहसुन, कटे टमाटर, कटी मिर्च आदि की ग्रेवी बना लें फिर निथरे हुए फूल डालकर भूने। चाहें तो स्वाद के लिए उबले हुए मटर भी डालें। १५-२० मिनट तक पकाएं धीमी आंच पर। उतार कर गर्म मसाला व कटा धनिया बुरक दें। पकने से ५ मिनट पहले फेंटा हुआ दही २-३ चम्मच डाल दें। तैयार सब्जी को रोटी या चावल के साथ सर्व करें।

महुए के पुएः

महुए के फूलों से मीठे पुए बना कर करें नया प्रयोगः

विधिः २०० ग्राम महुए के फूल धोकर कूकर में २ सीटी पर उबालें। महुए का पानी निथार कर उसे मिक्सर में पीसें। १ बर्तन में ३ कप आटा लेकर महुए का पेस्ट मिलाकर गूंथें। आटे में पानी न मिलाएं। मिश्रण पूरी के आटे की तरह कड़ा रखें। ज़रूरत पड़े तो थोड़ा सा पानी मिला लें। अब आटे की लोई बनाकर पूए को मोटा बेलें। यह कचोरी से पतला लेकिन पूरी से मोटा होना चाहिए। कड़ाई में तेल या घी गर्म कर पूए को कुरकुरा होने तक तलें। महुए के पुए आप गर्मा-गर्म भी खा सकते हैं। हालांकि ठंडे अधिक मीठे लगेंगे।

मधु सिधवानी

सच्ची शिक्षा हिंदी मैगज़ीन से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें FacebookTwitterGoogle+, LinkedIn और InstagramYouTube  पर फॉलो करें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here