Dera Sacha Sauda
टैग्स सम्पादकीय

टैग: सम्पादकीय

सम्पादकीय

Hearing the call of God, God has come for himself - Sachi Shiksha

संपादकीय : सुन के पुकार रूहों की खुदा खुद लेने आ गया..

अति शुभ घड़ी होती है वह जब संत-सतगुरु सृष्टि पर अवतार धारण करते हैं। ऐसे महान संत खुद परमेश्वर स्वरूप होते हैं। अपनी बिछुड़ी रूहों को अपने साथ-मिलाने को परमेश्वर खुद उन्हें जीव सृष्टि पर भेजता है।
अपने अंदर पॉजिटिविटी लाएं युवा पीढ़ी

अपने अंदर पॉजिटिविटी लाएं युवा पीढ़ी

सम्पादकीय :- सफलता का पैमाना, अपने अंदर पॉजिटिविटी लाएं युवा पीढ़ी मैं फेल हो जाऊंगा! मैं आगे नहीं बढ़ पाऊंगा! मेरे में हिम्मत नहीं। मैं...
सम्पादकीय

रूप वटा खुदा चले आए…

रूप वटा खुदा चले आए... : सम्पादकीय , पावन अवतार दिवस (25 जनवरी) पर कुल मालिक स्वरूप पूजनीय परम पिता शाह सतनाम जी दाता रहबर...
The month of December is dedicated to purity and service - Sachi Shiksha

दिसम्बर माह पवित्रता व सेवा को समर्पित

सम्पादकीय:  सेवा-भावना की मिलती है नई मिसाल जरूरतमंद को कपड़ा, आश्रय, भूखे को भोजन, बेसहारों को सहारा, विद्यादान, अंगदान, खूनदान आदि इन्सानियत, नेकी भलाई के...
Body came to the world: Editorial - Sachi Shiksha Hindi

देह धार जगत में आए

देह धार जगत में आए: सम्पादकीय संत-महापुरुष सृष्टि के उद्धार के लिए ही जगत में देहि धारण करते हैं। जीवात्मा जन्मों-जन्मों (अनन्तकाल) से जन्म मरण...

रूहानी संतों का सत्संग संजीवनी बख्शता है

रूहानी संतों का सत्संग संजीवनी बख्शता है : सम्पादकीय जी हां, धर्मों में और ईश्वर के सच्चे संतों-भक्तों का मानना है कि संतों के सच्चे सत्संग...
Maha Rehmo Karam Day - Sachi shiksha Hindi Editorial

सम्पादकीय

महा रहमो करम दिवस के उपलक्ष्य में वो धुरधाम से आया है, गुरगद्दी का असली हकदार हम खुद प्रकट करेंगे । ऐसा बब्बर शेर...

नवीनतम

तीन-चार साल पहले प्लानिंग जरूरी, राह होगी आसान | विदेश में...

तीन-चार साल पहले प्लानिंग जरूरी, राह होगी आसान विदेश में पढ़ाई: विदेश में पढ़ाई करना स्टूडेंट्स के लिए किसी सपने की तरह होता है। हालांकि अमीरों...

क्लिक करे

1,142फैंसलाइक करें
7,876फॉलोवरफॉलो करें
247फॉलोवरफॉलो करें
23फॉलोवरफॉलो करें
89,389फॉलोवरफॉलो करें
35,500सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

विशेष

पुराना

कैंसर को किया कैंसिल

सत्संगियों के अनुभव पूज्य हजूर पिता जी की रहमत प्रेमी विजय कुमार इन्सां (विजय बंसरी वाला) सुपुत्र प्रेमी सतपाल इन्सां मेला ग्राउंड शाह सतनाम जी...

प्रचण्ड आग से सुरक्षित निकाला

सत्संगियों के अनुभव - पूज्य परम पिता जी की रहमत प्रचण्ड आग से सुरक्षित निकाला प्रेमी दारा खान इन्सां निवासी न्यू गुरु अर्जनदेव जी कालोनी...

बेटी को हर बात समझाए मां

बेटी को हर बात समझाए मां :  माँ-बेटी का रिश्ता बड़ा ही प्रेम से भरपूर व विश्वासी होता है। बेटी अपने सबसे करीब मां को...

होटल ऐसे समुद्र में 20 फीट नीचे

अक्सर जब भी किसी लग्जरी होटल रूम की बात होती है तो कई लोग कल्पनाओं की उड़ान भरने लगते हैं। एक ऐसी ही कल्पना...

सेवा के साथ सुमिरन करो, सोने पे सुहागा

रूहानी सत्संग (3 जुलाई 2016)  डेरा सच्चा सौदा शाह सतनाम जी धाम, सरसा मालिक की प्यारी साध-संगत जीओ! इस कलयुग में दृढ़ यकीन, श्रद्धा-भावना अपने...