september 23 the 30th maha paropkar diwas celebrated with humanity across the world - Sachi Shiksha

गत 23 सितंबर को पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां का 30वां गुरुगद्दीनशीनी दिवस (महापरोपकार दिवस) देश और दुनिया में मानवता भलाई कार्यों के साथ मनाया गया। इस अवसर पर शाह सतनाम जी धाम सरसा में कोरोना से बचाव के लिए जहां 23 जरूरतमंदों को पूज्य गुरु जी की ओर से इम्यूनिटी पावर बढ़ाने की किट दी गई। जिसमें काले चने, साबुन, मास्क, एमएसजी काढ़ा, बी कॉम्पलेक्स, विटामिन-सी टेबलेट शामिल है।

वहीं 23 बेरोजगार महिलाओं को सिलाई मशीनें देकर स्वावलंबी बनाने का सराहनीय प्रयास किया गया। इस पावन अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने जरूरतमंद मरीजों के लिए रक्तदान भी किया। बता दें कि पूजनीय परम पिता शाह सतनाम जी महाराज ने 23 सितंबर 1990 को पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां को अपना रूप बनाकर बतौर तीसरे पातशाह गुरुगद्दी की बख्शिश की थी। पावन महापरोपकार दिवस की खुशी में कोरोना महामारी के चलते आॅनलाइन नामचर्चा का आयोजन किया गया। आश्रम के प्रवेश द्वारों पर थर्मल स्कैनिंग, सेनेटाइजेशन आदि का पूरा इंतजाम था। डेरा अनुयायियों ने मास्क लगाकर, सोशल डिस्टेसिंग आदि नियमों का पालन करते हुए नामचर्चा में हिस्सा लिया। इसके अलावा डेरा श्रद्धालुओं ने शाह सतनाम जी स्पेशलिटी अस्पताल स्थित पूज्य बापू मग्घर सिंह जी इंटरनेशनल ब्लड बैंक में पहुंचकर बड़ी संख्या में रक्तदान किया।

विधवा को बनाकर दिया आशियाना

महापरोपकार दिवस के अवसर पर ब्लाक रामां -नसीबपुरा के गांव कोट बखतू में साध-संगत ने एक विधवा बहन को डेरा सच्चा सौदा की आशियाना मुहिम के अंतर्गत घर (मकान) बना कर दिया। सेवा समिति के सदस्य गुरनाम सिंह इन्सां ने बताया कि गांव कोट बख्तू की रहने वाली बहन बिन्दर कौर के पति गोलू राम की मौत हो चुकी है। पीड़ित बहन अपनी दो बेटियों के साथ खस्ता हाल मकान में रह रही थी, जिसकी छत की हालत खराब होने के कारण किसी समय पर भी जान-माल का नुक्सान हो सकता था। साध-संगत ने उसके परिवार के लिए एक कमरा और रसोई बना कर दी। इस कार्य में गांव के सरपंच, समाजसेवियों और गांववासियों ने भी अपना सहयोग दिया। भंगीदास हरविन्दर सिंह इन्सां ने बताया कि 30 सेवादारों व मिस्त्रियों की मदद से यह सेवा कार्य पूरा किया गया।

घर बनाने संबंधी मैं कभी सोच भी नहीं सकती थी: बिन्दर कौर

मेरे लिए दो समय की रोटी जुटाना भी मुश्किल है। घर बनाने का सपना कभी दिमाग में ही नहीं आया। आज घर की पकी छत बन गई है, इसलिए मैं पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां व डेरा सच्चा सौदा के सेवादारों का तहदिल से धन्यवाद करती हूं।

ब्लॉक ब्याना के सेवादारों ने निर्धन की बेटी का किया कन्यादान

समाजसेवा में अग्रणी ब्लॉक ब्याना जिला करनाल के डेरा सच्चा सौदा के सेवादारों ने गत 17 अक्तूबर को निर्धन परिवार की दूसरी बेटी की शादी में भी आर्थिक सहयोग दिया और कन्यादान की रस्म भी पूरी की। इस अवसर पर सेवादारों ने 31 सूट, 11 बर्तन, कंबल आदि जरूरत का सामान देकर बेटी को विदा किया। ब्लॉक जिम्मेवार प्रदीप इन्सां ने बताया कि गांव चोगावा में विधवा बहन सुषमा देवी की लड़की मनजीत कौर की शादी तय हो चुकी थी, लेकिन परिवार की आर्थिक स्थिति बहुत कमजोर थी। सुषमा देवी के आग्रह पर ब्लॉक ब्याना के सेवादारों ने शादी में मदद करने का आश्वासन दिया।

शादी के दिन शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्फेयर फोर्स विंग के सेवादार एवं ब्लॉक के 15 मेंबर रोबिन इन्सां, दीपक इन्सां, प्रे्रम इन्सां, साहिल इन्सां, मास्टर तनुज इन्सां, बहन कमलेश इन्सां, शीला इन्सां, कुसम इन्सां ने आर्थिक मदद के साथ शादी की हर रस्म में भाग लिया और बेटी को आशीर्वाद स्वरूप कन्यादान के रूप में 3100 रुपये दिए। बता दें कि इस परिवार के मुखिया की वर्ष 2008 में एक सड़क हादसे में मौत हो गई थी। ब्लॉक के जिम्मेवारों ने इस परिवार की मदद को अपना हाथ बढ़ाया और वर्ष 2016 में विधवा बहन सुषमा देवी की बड़ी बेटी की शादी में भी भरपूर सहयोग दिया। परिवार में 5 लड़कियां हैं और बड़ी मुश्किल से जीवन-बसर हो पाता है। सेवादार इस परिवार को पिछले 6 साल से हर महीने राशन भी उपलब्ध करवाते हैं। डेरा सच्चा सौदा के सेवादारों के इस प्रयास की हर कोई सराहना कर रहा है।

धन्यवाद करने को मेरे शब्द छोटे पड़ जाते हैं: मां सुषमा देवी

डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालुओं व साध-संगत द्वारा मेरे परिवार को उस समय से मदद दी जा रही है, जब मेरा पति इस दुनिया से रुखस्त हो गया था।

सच बताऊं तो डेरा प्रेमी ही मेरे घर का सहारा हैं। इनका ऋण मैं पूरी जिंदगी नहीं उतार पाऊंगी। धन्य हैं पूज्य गुरु जी, जिनकी शिक्षाओं का अनुसरण करते हुए ये सेवादार ऐसे घोर कलयुग में भी गरीबों की मदद को हमेशा तैयार रहते हैं।

 

सरसा। जरूरतमंद परिवारों को राशन देते व पक्षियों के लिए दाना-पानी का इंतजाम करते हुए ब्लॉक कल्याण नगर के सेवादार। गौरतलब है कि ब्लाक कल्याण द्वारा फूड बैंक बनाया गया है, जहां से प्रति माह जरूरतमंदों को राशन दिया जाता है।

नागपुर (महाराष्टÑ) की साध-संगत ने 9 परिवारों को बांटा राशन

पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां की पावन प्रेरणा पर चलते हुए साध-संगत ने 9 जरूरतमंद परिवारों को राशन वितरीत किया। कोरोना महामारी को देखते हुए यहां के सेवादारों ने जरूरतमंद परिवारों को उनके घर-घर जाकर राशन दिया। इस सेवाकार्य में रघुबीर इन्सां (25 मैम्बर), जितेन्दर इन्सां (15 मैम्बर), अमृतपाल इन्सां,भंगीदास संजय इन्सां, मंगेश इन्सां, जगदीश इन्सां, सतविन्द्र इन्सां, किलाशो इन्सां, कृशनी इन्सां, छवि इन्सां, प्रमिला इन्सां, प्रगति इन्सां सहित साध-संगत ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here