Midnight snacks should not make you fat

आज की युवा पीढ़ी को देर रात खाना,घूमना,सोना बेहद पसंद है। वे देर रात तक टीवी,कंप्यूटर,मोबाइल पर कुछ न कुछ करते रहते हैं। चाहे डिनर खाया भी हो पर जागते हुए कुछ घंटों बाद कुछ खाने का मन कर आता है।

फिर वे तलाशते हैं फ्रिज में नमकीन, बिस्किट, मैगी, पास्ता, कैक, पेस्ट्री, चिप्स, वैफर्स, सैंडविच को कि कुछ भी मंच करने को उन्हें मिल जाए।

ये रात को खाए हुए स्रैक्स पेट भरने के साथ मोटापा भी देते हैं जिसका पता कुछ समय बाद लगता है। इसी को कहते हैं मिडनाइट स्रैक्स जो आज की युवा पीढ़ी की आदत में शुमार होता जा रहा है। इस आदत के नुक्सान ही नुक्सान हैं। कभी कभार मिडनाइट स्रैक्स लेना ठीक है पर उसे आदत बनाना बिल्कुल गलत है।

वेट बढ़ाने में मददगार

मिडनाइट स्रैक्स का सबसे बड़ा नुक्सान है वजन बढ़ना। देर रात्रि में खाए स्रैक्स सीधे सीधे कैलरीज में बदल जाते हैं, क्योंकि उनको लेने के बाद कोई शारीरिक श्रम तो होता नहीं। इस तरह खाया पिया सीधे फैट में बदल जाता है, इसलिए मिडनाइट स्रैक्स से बचें। अगर मजबूरी वश कुछ लेना भी पड़ता है, विशेषकर समारोहों में तो ऐसे में घर के अंदर 10 मिनट तक टहल लें।

दांतों के लिए भी ठीक नहीं

दंत चिकित्सकों के अनुसार भी मिडनाइट स्रैक्स दांतों को काफी नुक्सान पहुंचाते हैं क्योंकि मिडनाइट स्रैक्स लेने के बाद अधिकतर लोग दांतों में ब्रश नहीं करते। खाकर सीधा सो जाते हैं। इसलिए खाÞद्य पदार्थों के कुछ कण दांतों में चिपके रह जाते हैं जिनमें बैक्टीरिया पनपने लगते हैं। विशेषकर मीठा खाने के बाद तो इनसे बचना नामुमकिन है। इससे दांतों में कैविटीज हो जाती है।

पाचन-प्रणाली में भी होती है मुश्किल

मिडनाइट स्रैक्स खाते समय तो बहुत मजा आता है पर इनसे हमारा पाचन-तंत्र प्रभावित होता है। खाए हुए को पचाने में काफी समय लगता है। मध्य-रात्रि में इतना समय नहीं होता, क्योंकि हम सो जाते हैं। इसलिए मिडनाइट स्रैक्स से बचना ही बेहतर है।

रखें ध्यान

  • रात्रि में भूख लगने पर फल खाएं। जंक फूड व हैवी फूड न खाएं। फलों से आपको कई विटामिंस और मिनरल्स भी मिलेंगे और पचेंगे भी जल्दी।
  • दिन भर में छोटे-छोटे पांच मील लें। तीन मील लेने वालों का भोजन अंतराल बढ़ जाता है। स्वाभाविक है भूख लगने लगती है।
  • देर रात तक जागने की आदत न डालें, क्योंकि देर रात तक जागने से भूख लगना स्वाभाविक है। समय पर सोने और उठने की आदत डालें।
  • रात्रि में कुछ भी खाएं,सोने से पहले ब्रश अवश्य करें।
  • लेट खाने के बाद घर में ही अवश्य टहलें।
    -नीतू गुप्ता

सच्ची शिक्षा हिंदी मैगज़ीन से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें FacebookTwitter, InstagramYouTube  पर फॉलो करें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here