holiday is fun

छुट्टी का दिन हो मौजमस्ती भरा

हमारी रूटीन लाइफ में छुट्टियां बहुत खास होती हैं और सप्ताह भर में रविवार का दिन ही तो ऐसा होता है जो पूरे परिवार के लिए खास होता है। इस दिन सप्ताह भर के रूटीन से अलग जिंदगी का मजा लेते हैं।

देर से उठना, देर से नाश्ता, फिर आराम से लंच करना, बस पता ही नहीं चलता कि कब शाम हो गई।

सारा दिन किस तरह गुजर गया?

सप्ताह भर के इंतजार के बाद रविवार आता है और इस तरह बीत जाता है जैसे कुछ था ही नहीं। कुछ तो खास और अलग होना ही चाहिए इस दिन, जिससे यह भुलाये न भूले और आने वाले सप्ताह को हम चुनौती मानकर बितायें।

रविवार को खास बनाने के लिए काफी कुछ किया जा सकता है, थोड़ा काम, कुछ मस्ती या फिर कुछ ऐसा जिसे हम बहुत मस्ती या फिर कुछ ऐसा जिसे हम बहुत दिन से करने की सोच रहे हैं।

पिकनिक:-

रविवार के दिन घर से बाहर घूमने जाना काफी राहत देता है। परिवार के सब लोग एक साथ जब घर से बाहर किसी जगह पिकनिक मनाने निकलते हैं तो वाकई यह एक खूबसूरत क्षण होता है। पिकनिक मनाने के लिए आप घर से बाहर किसी पार्क, लॉन या किसी ऐतिहासिक स्थल को चुन सकते हैं।

पिकनिक के लिए घर से निकलते समय अपने लिए सभी जरूरत का सामान ले लें ताकि परिवार के सभी लोग जिससे खूब एंज्वाय कर सकें। अपने साथ दो चटाई, कुछ नाश्ते का सामान, एक-दो कुशन अथवा तकिया, चाय तथा साथ में स्रैक्स वगैरह पैक कर लें। बच्चों के खेलने के लिए उनके खेल का कुछ सामान भी ले लें ताकि उनके लिए भी यह पिकनिक यादगार रहे। शाम को लौटते समय आपको भी यह लगेगा कि आप किसी दूसरी दुनिया से लौट रहे हैं।

बाहर खाना खायें:-

छुट्टी के दिन वही खाना, वही डाइनिंग टेबल कुछ बोरिंग सा लगता है। इस दिन कुछ बदलाव किया जाये। घर पर खाने का झंझट बढ़ाने के बजाय बाहर खाना खाने निकलें। किसी रेस्तरां या होटल में पूरे परिवार को खाना खिलाने ले जायें। यदि बाहर खाना खाना आपको पसंद नहीं है तो भी परिवार वालों को बाजार की थोड़ी सी सैर कराके चाट या गोलगप्पे खिलाने में तो कोई हर्ज नहीं है।

शापिंग:-

सप्ताह के खत्म होने के बाद रविवार का इंतजार शापिंग करने के लिए भी किया जा सकता है। परिवार में बच्चों या बड़ों के कपड़े ग्रॉसरी या कोई अन्य आइटम वगैरह खरीदने के लिए यह दिन बेहतर है। इसमें आपके घर के काम में हाथ बटाने के लिए आपको परिवार के लोगों का सहयोग भी मिलता है। घर अकेला छोड़ने की टेंशन भी इस दिन नहीं रहती।

कोई न कोई तो घर पर रहेगा ही, सो शापिंग भी तसल्ली से हो जाती है। पहले ही दिन पूरी शापिंग की प्लानिंग करके चलें। कहां से क्या और कितनी शापिंग करनी है?

मिलना-जुलना करें:-

छुट्टी के दिन अपने दोस्तों या रिश्तेदारों से भी कभी-कभार मिलने चले जायें। सप्ताह भर व्यस्त रहने के कारण अक्सर हम अपने मित्रों एवं रिश्तेदारों से मिल नहीं पाते इसलिए रविवार को किसी मित्र के यहां घूम आयें या अपने घर खाने पर बुला लें। इससे सामाजिक मेलजोल को बढ़ावा मिलता है।

लंच या डिनर एक साथ करें। आखिर समाज में रहकर सिर्फ परिवार तक ही सीमित रहना काफी नहीं होता है। समाज में रहकर मिलना-जुलना जरूरी है। किसी को आप समय देंगे तो कोई आप को भी समय देगा।

घर की सफाई और सजावट:-

घरों में अक्सर कुछ काम ऐसे होते हैं जिन्हें निबटाने के लिए पूरा दिन भी कम पड़ता है। महीना भर लग जाता है यह सोचने में कि अब करें या कब? इसलिए इन कामों के लिए रविवार का दिन सही रहता है। घर की छत्ती में भरा अस्त-व्यस्त सामान, फिजूल भरी अलमारियां, बच्चों के कमरे, रसोई आदि की सफाई के लिए रविवार का दिन सही रहता है। इस काम में इस दिन परिवार के लोगों की मदद ली जा सकती है।

रविवार आपका अपना दिन है। यह आपकी फुरसत का दिन है। इसे आप जितना चाहें, उतना एंज्वाय कर सकते हैं। इस दिन को यूं ही न बीत जाने दें। इसे खुशी-खुशी बितायें। यदि मन में कोई नाराजगी चली आ रही है तो इस दिन निकाल दें। अपने मन को साफ रखें। आपको अपने और करीब लगेंगे।

रविवार का दिन अपने परिवार के साथ रूटीन से हटकर बितायें तो वह यादगार भी बनेगा और प्रेम भी बढ़ेगा।
-शिखा चौधरी

सच्ची शिक्षा हिंदी मैगज़ीन से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें FacebookTwitterGoogle+, LinkedIn और InstagramYouTube  पर फॉलो करें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here