follow these measures to increase your popularity - Sachi Shiksha

हर कोई चाहता है कि वह अपने बिजनेस, प्रोफेशनल फील्ड, मित्रों व इलाके के लोगों के बीच पापुलर हो, लोग उससे मिलना चाहें और उसके बारे में पॉजिटिव विचार रखें। अगर आप भी ऐसा चाहते हैं तो दुनिया के नामीगिरामी विशेषज्ञों द्वारा बताए गए इन उपायों को आजमाकर देखिए।

जिनसे दोस्ती चाहते हैं, उनके साथ समय बिताएं

मनोविज्ञानियों का कहना है कि लोग उन व्यक्तियों को ज्यादा पसंद करते हैं जिन्हें वे जानते हैं। ऐसा ‘मेयर एक्सपोजर इफेक्ट’ के कारण होता है। कनाडा के मनोविज्ञानी डा. पैट्रिक कीलन कहते हैं कि हमें अपने सर्किल के लोगों के साथ निरंतर किन्हीं सामाजिक, धार्मिक, व्यावसायिक या व्यक्तिगत गतिविधियों में संलग्न रहना चाहिए। लोगों के साथ आप जितना समय बिताएंगे, उनके बीच उतने ही पापुलर रहेंगे।

लोगों के बारे में अच्छी टिप्पणी करें

जब आप पीठ पीछे दूसरों की बुराई करते हैं या उनके लिए घटिया टिप्पणी आदि करते हैं तो आपके बारे में लोगों की गलत राय बनती है। वे आपको ईर्ष्यालु, चुगलखोर और घटिया सोच वाला इंसान समझने लगते हैं। लोगों के अवचेतन मन में यह बात बैठ जाती है कि जरूर आप उनके लिए भी पीठ पीछे ऐसे ही बोलते होंगे। प्रो. रिचर्ड वाइजमैन ने अपनी किताब ‘59 सेकेण्ड्स- थिंक अ लिटिल, चेंज आलाट’ में लिखा है, ‘अपने दोस्तों और सहकर्मियों के विषय में अच्छी बातें कहेंगे तो आपको अच्छे इंसान के रूप में देखा जाएगा।

मुस्कुराते रहें

स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के हाल ही में हुए एक स्टडी से साबित होता है कि यदि आप किसी से पहली बार मुस्कुराते हुए मिलते हैं तो इस बात की काफी संभावनाएं हैं कि वह आपको लंबे समय तक याद रखेगा। यूनिवर्सिटी आफ ड्यूसबर्ग एस्सन की एक स्टडी के मुताबिक जब आप किसी से मुस्कुराते हुए बातचीत करते हैं तो सामने वाला पॉजिटिव फील करता है। आप चाहते हैं कि दुनिया आपको पसंद करने लग जाए तो लोगों से मुस्कुरा कर मिलना शुरू कर दें।

एनर्जेटिक रहें

अगर आप अपने आस पास के लोगों को प्रभावित करना चाहते हैं तो हमेशा एनर्जेटिक रहना बेहद जरुरी है। न्यूयार्क यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने ‘चमेलेआन इफेक्ट’ का जिक्र किया है। यह तब होता है, जब लोग एक-दूसरे के व्यवहार की कापी करते हैं। यह कापी पसंद की ओर इंगित करती है। इसी स्टडी से यह भी पता लगता है कि पसंद करने की सोच प्रतिभागी की स्पीड और एनर्जी पर काफी हद तक निर्भर करती है। अगर उनका बाडी मूवमेंट खुद पर भरोसा के रूप से झलकता है तो आप खुद को बेहतर तरीके से प्रस्तुत कर पाते हैं।

मस्त और जिंदादिल रहें

हवाई यूनिवर्सिटी में मनोविज्ञान के प्रोफेसर इलेन हैटफील्ड कहते हैं, ‘मूड संक्र ामक होता है। अगर आप उदास, हताश और दुखी नजर आते हैं तो आपके इर्दगिर्द मौजूद लोग भी गंभीर और उदास हो जाते हैं। सच यह है कि ऐसे व्यक्ति को कोई पसंद नहीं करता जो हर वक्त अपनी समस्याओं का रोना रोता हो। लोग खिलंदड़, जिंदादिल और हंसोड़ प्रवृत्ति के इंसान को पसंद करते हैं जो उन्हें हंसा सके और उनका दिल बहला सके, इसलिए अगर आपको पापुलर होना है तो उदासी की परतों को उखाड़ फेंकिए और खुशमिजाजी की आभा ओढ़िए।

समान हाबी वाले लोगों से मिलें

एक जैसी रूचि और हाबी वाले लोग एक दूसरे को खूब पसंद करते हैं। हर कोई अपने जैसी पसंद रखने वाले व विचारों में समानता रखने वाले व्यक्ति को चाहता है। वैज्ञानिक इसे ‘सिमिलरिटी अट्रेक्शन इफेक्ट’ कहते हैं। दुनिया के पापुलर लीडर्स में आपको यह खासियत नजर आएगी। वे कहीं भी जाते हैं, तो स्थानीय लोगों द्वारा बनाए व्यंजन चखकर उसे अपना पसंदीदा व्यंजन बताते हैं, वहां की वेशभूषा पहनकर उनके जैसे दिखने की कोशिश करते हैं। इससे लोगों में उनकी लोकप्रियता बढ़ जाती है। इसलिए लोगों के साथ मिलें तो आपस में समानताएं खोजें, भिन्नताएं नहीं।

जैसा व्यवहार आप चाहते हैं, वैसा करें

यूनिवर्सिटी आफ वाटर लू और यूनिवर्सिटी आफ मानीटोबा, कनाडा के मनोवैज्ञानिकों ने पाया कि आप जैसा व्यवहार दूसरों से करते हैं, वैसा ही पाते हैं। इसलिए अगर आप अच्छे व्यवहार और सम्मान की उम्मीद करते हैं तो आप भी लोगों के साथ अच्छा व्यवहार करें। जर्नल ‘सोशल इन्फ्लूएंस’ में प्रकाशित स्टडी के मुताबिक जो लोग मिलते ही हाथ मिलाते हैं या कंधे पर जोश से हाथ रखते हैं, वे लोगों के चहेते बन जाते हैं। यूनिवर्सिटी आफ मिसिसिपी के एक स्टडी से भी साबित हुआ है कि अगर आप बातचीत के दौरान अपने हाथों को सामने वाले के कंधों या पीठ पर रखते हैं तो उसके अंदर आपके प्रति भरोसा पैदा होता है।
-शिखर चन्द जैन

सच्ची शिक्षा हिंदी मैगज़ीन से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें FacebookTwitter, LinkedIn और InstagramYouTube  पर फॉलो करें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here