Everybody should come forward in organ donation to save lives: Arjun Mathur - Sachi Shiksha

मीठीबाई क्षितिज ने एमटीवी इंडिया और ऑर्गन इंडिया के साथ किया संयुक्त पैनल चर्चा का आयोजन
जीवन बचाने की मुहिम अंगदान में सभी आगे आएं : अर्जुन माथुर

किसी की जिदंगी बचाने से बड़ा कोई पुण्य नहीं : सुनयना सिंह

मुंबई। ‘ऑर्गन दान’ के प्रति जागरूकता के लिए मीठीबाई क्षितिज ने एमटीवी इंडिया और ओआरजीएन इंडिया के साथ मिलकर गत दिनों एक संयुक्त पैनल चर्चा का आयोजन किया। इस बेहतरीन आयोजन के लिए ओआरजीएन इंडिया की सीईओ सुनयना सिंह को सम्मानित किया। इस अवसर पर अंतर्राष्ट्रीय एमी पुरस्कार-नामित अभिनेता अर्जुन माथुर के साथ टीम क्षितिज का इंस्टाग्राम लाइव सत्र भी चला। इस अवसर पर अर्जुन माथुर ने कहा कि ‘ऑर्गन दान’ का उद्देश्य अधिकतम व्यक्तियों को अंग दाताओं के रूप में खुद को पंजीकृत करने के लिए प्रोत्साहित करके और इसके बारे में शब्द का प्रसार करके अनगिनत व्यक्तियों के जीवन को बदलना है।

माथुर ने कहा कि कोई केवल अपने लिए नहीं जी सकता; समाज के अन्य लोगों की मदद करना हमारा नैतिक कर्तव्य है। यही कारण है कि मैं आप सभी से अंग दाताओं के रूप में पंजीकरण करने का आग्रह करता हूँ। ऑर्गन इंडिया के सीईओ, सुनयना सिंह ने कहा कि किसी के जीवन को बचाने से बड़ा कोई काम नहीं है। हम ऑर्गन इंडिया में ऑर्गन दान के माध्यम से जरूरतमंद लोगों की जान बचाने का प्रयास करते हैं। मैं अपनी नई पहल के बारे में बात करने के लिए मीठीबाई क्षितिज के मंच पर आकर बहुत खुश थी। वर्चुअल पैनल डिस्कशन में 200 से अधिक अटेंडीज के साथ और इंस्टाग्राम लाइव सेशन में 1,110+ से अधिक बार देखा गया, यह आयोजन एक शानदार सफलता रही।

मीठीबाई कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. कृतिका देसाई ने कहा कि हर किसी को दूसरों की मदद करने में जो भूमिका निभानी चाहिए, उसे समझना चाहिए। ‘ऑर्गन दान’ वास्तव में एक नेक और बहुप्रतीक्षित पहल है और मैं टीम क्षितिज के इस कार्य पर गर्व कर रही हूँ। मैं उनके भविष्य के सभी प्रयासों के लिए उन्हें शुभकामनाएं देती हूँ। क्षितिज 20 के को-चेयरपर्सन, नैशर शाह और ऋषभ जैन ने कहा कि टीम क्षितिज ने हमेशा ‘ऑर्गन दान’ जैसी महान पहल के लिए जागरूकता और संवेदनशीलता बढ़ाने के लिए अपने मंच का उपयोग किया है। हम ऑर्गन दान के महत्व को समझते हैं और एमटीवी इंडिया का समर्थन करते हैं। हमें इस आयोजन की सफलता पर बेहद गर्व है और हम अपने सभी आगामी उपक्रमों के साथ अधिक से अधिक ऊंचाइयों को प्राप्त करने का प्रयास करते रहेंगे।

सच्ची शिक्षा हिंदी मैगज़ीन से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें FacebookTwitter, LinkedIn और InstagramYouTube  पर फॉलो करें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here